Home फीचर्ड डीएमएफ से छत्तीसगढ़ में खनन प्रभावितों के जीवन में आई नई रोशनी, प्रभावितों को मिल रहे शिक्षा, रोजगार के बेहतर अवसर

रायपुर :  डीएमएफ से अब खनन प्रभावित क्षेत्रों में बदल रहा जनजीवन

-स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार, पेयजल, कृषि विकास, सिंचाई, खाद्य प्रसंस्करण, पर्यावरण संरक्षण के कार्यों को मिली प्राथमिकता

-ग्रामसभा के सदस्यों, स्थानीय जनप्रतिनिधियों, अनुसूचित जनजाति वर्ग और महिलाओं की भागीदारी से तय हो रही विकास योजनाएं

-डीएमएफ की 50 प्रतिशत राशि का उपयोग प्रत्यक्ष प्रभावित क्षेत्रों के विकास में

छत्तीसगढ़ राज्य खनिज संसाधनों के मामले में देश में अग्रणी स्थान रखता है। खनिजों के उत्पादन से जहां खनिज आधारित उद्योगों के माध्यम से क्षेत्र का विकास होता है, वहीं रोजगार के नए अवसर भी उत्पन्न होते हैं। सरकार खनन कार्यों से प्रभावित क्षेत्र में रहने वाले लोगों के हितों और कल्याण के लिए खनन पट्टे धारकों की भागीदारी सुनिश्चित कर रही है। इसके लिए पिछली सरकार में खनिज अधिनियम में जिला खनिज ट्रस्ट के गठन का प्रावधान किया गया था। हालांकि, विशेषज्ञों द्वारा इस प्रावधान में कई कमियों को महसूस किया जा रहा था क्योंकि जन प्रतिनिधियों की भागीदारी सुनिश्चित नहीं की जा रही थी। इसके अलावा, स्थानीय लोगों की भागीदारी भी न्यूनतम थी। इसके अलावा, सीधे प्रभावित लोगों के कल्याण के लिए धन का उचित उपयोग नहीं किया जा रहा था। सरल शब्दों में, जरूरतमंदों को आवंटित धन से लाभ नहीं मिल रहा था। पूर्ववर्ती प्रावधान में कई अन्य समान कमियों को भी देखा गया था।
इन कमियों को दूर करने के लिए, और स्वास्थ्य, शिक्षा, पर्यावरण और स्वच्छता के क्षेत्र में प्रभावित स्थानीय लोगों को उचित लाभ प्रदान करने के लिए, राज्य सरकार ने पुराने प्रावधान में कई महत्वपूर्ण सुधार किए हैं।

छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में विकास के लिए डीएमएफ फंड का काफी उपयोग किया है। छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में डीएमएफ फंड की मदद से शिक्षा, स्वास्थ्य, बुनियादी ढांचा विकास, बिजली, पानी, स्वच्छता आदि सभी क्षेत्र विकसित किए गए हैं। इस कोष का उपयोग राज्य के विभिन्न जिलों में आत्मानंद सरकारी अंग्रेजी-माध्यम स्कूलों के निर्माण में भी किया गया है। डीएमएफ की मदद से राज्य भर में कुपोषण के मामले कम हुए हैं। इसके अलावा, यह कोरोना संकट के दौरान स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे में सुधार और लोगों को जरूरी राहत प्रदान करने के लिए उपयोग किया गया। सरकार द्वारा उठाया गया प्राथमिक कदम ट्रस्ट में जन प्रतिनिधियों का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करना है, जिसके लिए, जिले के प्रभारी मंत्री को गवर्निंग काउंसिल के पदेन अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया। इसके साथ ही जिले के सभी विधायकों को इसके पदेन सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया है। पहले, पुराने प्रावधान के अनुसार, जिले के कलेक्टर गवर्निंग काउंसिल के अध्यक्ष हुआ करते थे।
वर्तमान सरकार द्वारा किए गए प्रावधान में अन्य महत्वपूर्ण परिवर्तन प्रभावित क्षेत्र के स्थानीय निवासियों की बढ़ी हुई भागीदारी है। यह उल्लेखनीय है कि पिछले प्रावधान में, केवल खनन से प्रभावित लोगों को ही विशेष रूप से परिषद में पर्याप्त स्थान नहीं दिया गया था।
राज्य सरकार द्वारा ट्रस्ट में प्राप्त राशि को सीधे जरूरतमंदों तक पहुंचाने के लिए पूर्ववर्ती प्रावधान में आवश्यक बदलाव किया गया है। संशोधनों के अनुसार, ट्रस्ट को प्राप्त राशि का 50 प्रतिशत सीधे प्रभावित क्षेत्र/व्यक्तियों के कल्याण के लिए उपयोग किया जाएगा। इसके परिणामस्वरूप निवासियों का आर्थिक और सामाजिक विकास हुआ है। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि पिछले प्रावधान में, पूरे जिले को प्रभावित माना गया था और यह राशि इच्छानुसार खर्च की गई थी और लाभ का केवल एक हिस्सा जरूरतमंदों तक पहुंचता था। संशोधित प्रावधानों के अनुसार, ट्रस्ट फंड से लाभान्वित होने वाले लाभार्थियों की पहचान इन क्षेत्रों के समग्र विकास के लिए प्रभावित क्षेत्र निवासियों की आवश्यकता के अनुसार पांच वर्षीय विजन डॉक्यूमेंट तैयार करने के लिए किया जाएगा। दंतेवाड़ा, कोरबा और बस्तर जिलों में यह काम शुरू हो चुका है।
स्थायी आजीविका, सार्वजनिक परिवहन, सांस्कृतिक मूल्यों को संरक्षित करने और युवा गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए ट्रस्ट फंड द्वारा संपादित कार्यों में नए क्षेत्रों को शामिल किया गया है। इसे दंतेवाड़ा, जशपुर, सुरगुजा और कांकेर जिलों में लागू किया जा रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में ट्रस्ट फंड का पेयजल, ऊर्जा आधारित परियोजना, स्वास्थ्य देखभाल के तहत सरकारी अस्पतालों में स्वास्थ्य देखभाल की सुविधा, उच्चतर शिक्षा के लिए सरकारी संस्थानों में शैक्षिक शुल्क ध् छात्रावास शुल्क प्रदान करना, शिक्षा के साथ-साथ सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में सीधे प्रभावित क्षेत्रों के परिवार के सदस्यों को कोचिंग और आवासीय प्रशिक्षण का प्रावधान किया गया है। जशपुर जिले में संकल्प कोचिंग इसका एक उत्कृष्ट उदाहरण है।
इसके अलावा, खाद्य प्रसंस्करण, लघु वनोपज और वन प्रसंस्करण के साथ-साथ कृषि उत्पादों के भंडारण और प्रसंस्करण इकाइयों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त जैविक खेती को भी बढ़ावा दिया जा रहा है और महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान किए जा रहे हैं। इसके जरिए कृषि के लिए खाद तैयार की जा रही है। नालियों की सफाई और सघन वृक्षारोपण कार्यों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। अब आधारभूत संरचना संबंधी कार्यों में केवल 20 प्रतिशत राशि का उपयोग पेयजल, स्वास्थ्य और शिक्षा के अलावा अन्य क्षेत्रों में किया जा रहा है।
वर्ष में एक बार राज्य स्तरीय निगरानी समिति की बैठक आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। ट्रस्ट के कार्यों की निगरानी के लिए राज्य स्तरीय जिला खनिज संस्थान ट्रस्ट सेल की स्थापना का प्रावधान किया गया है। राज्य सरकार ने इस काम में डीएमएफ से राशि खर्च करने, प्रभावित क्षेत्रों में स्वास्थ्य, कुपोषण की समस्या को हल करने और कृषि कार्यों को रोजगार देने के निर्देश जारी किए हैं, जिसके परिणाम बहुत उत्साहजनक हैं। दंतेवाड़ा जिले में पिछले वर्ष की तुलना में कुपोषण में चार प्रतिशत की कमी आई है। इसी तरह, हाट बाजार क्लिनिक में जून 2019 से 50 हजार मरीजों का निरू शुल्क इलाज किया गया है। बस्तर संभाग के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल महारानी अस्पताल के संचालन के लिए मानव संसाधन और चिकित्सा आपूर्ति की नितांत आवश्यकता थी जिसकी आपूर्ति जिला प्रशासन द्वारा डीएमएफ से आपूर्ति की गई। जिला प्रशासन दंतेवाड़ा जिला डीएमएफ मद के माध्यम से सांस्कृतिक मूल्यों का संरक्षण कर रहा है। इसके तहत जिले की 143 ग्राम पंचायतों में देवगुड़ी का कायाकल्प कर और इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित कर आदिवासियों की अमूल्य संस्कृति और विरासत को संरक्षित करने का काम किया जा रहा है। यह पहल आदिवासी संस्कृति और मूल्यों को और मजबूत करने में कारगर साबित हो रही है।
मुंगेली जिले के 20 ग्राम पंचायत के 81 आंगनबाड़ी केंद्रों में, छह महीने से तीन साल तक के कुपोषित बच्चे और तीन से छह साल की उम्र के आंगनवाड़ी में आने वाले सभी बच्चों को पौष्टिक भोजन, अंडा और अतिरिक्त पोषण आहार का प्रावधान किया गया है। डीएमएफ मद के तहत इन सभी बच्चों के लिए 21, 67,200 रुपये की राशि स्वीकृत की गई है। इस योजना से जिले के लगभग 2400 बच्चे लाभान्वित हो रहे हैं।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में खनिज बहुल छत्तीसगढ़ राज्य में जिला खनिज न्यास निधि की राशि को प्रदेश के खनन प्रभावित क्षेत्रों के समग्र आर्थिक और सामाजिक विकास तथा लोगों के जीवन स्तर में सकारात्मक बदलाव का माध्यम बनाने में बड़ी सफलताएं हासिल की गई हैं। मुख्यमंत्री की पहल पर छत्तीसगढ़ जिला खनिज संस्थान न्यास नियम में संशोधन कर नई प्राथमिकताएं तय की गई हैं और खनन प्रभावित क्षेत्रों के विकास की योजना के निर्माण और क्रियान्वयन में प्रभावित क्षेत्रों की ग्राम सभाओं, स्थानीय जनप्रतिनिधियों, अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों और महिलाओं की भागीदारी भी सुनिश्चित की गई है।
नये संशोधन के अनुसार डीएमएफ की राशि का उपयोग खनन प्रभावित अंचलों में शिक्षा, स्वास्थ्य, आजीविका के साधन विकसित करने के लिए प्रशिक्षण, रोजगार, जीवनस्तर उन्नयन, सुपोषण आदि जनोपयोगी कार्यों में किया जा रहा है। इस मद से स्कूलों में शिक्षकों की व्यवस्था, स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार, पेयजल, कृषि विकास, सिंचाई, खाद्य प्रसंस्करण, पर्यावरण संरक्षण, प्रदूषण नियंत्रण, सार्वजनिक परिवहन सुविधाओं के विस्तार, खेल व अन्य युवा गतिविधि, वृद्ध और निःशक्तजन कल्याण, संस्कृति संरक्षण के साथ ही अधोसंरचना विकास के कार्य कराए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में गठित नई सरकार ने जिला खनिज न्यास की राशि के उपयोग के लिए नये सिरे से प्राथमिकता तय की हैं।
मुख्यमंत्री बघेल ने 9 मार्च 2019 डीएमएफ के प्रभावी क्रियान्वयन पर आयोजित पर परिचर्चा में कहा था कि डीएमएफ की राशि का उपयोग खदान प्रभावित क्षेत्रों के विकास और वहां के प्रभावित लोगों के जीवन स्तर में सुधार, आजीविका के साधनों को विकसित करने के लिए प्राथमिकता के आधार पर किया जाना चाहिए। पूर्व में इस राशि से बड़े-बड़े भवन, अतिरिक्त कमरे बनाए गए। स्वीमिंग पूल और जिला कार्यालय में लिफ्ट लगाए गए थे। जबकि इस मद की राशि उपयोग खनन प्रभावित क्षेत्रों के विकास के लिए किया जाना चाहिए था।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर छत्तीसगढ़ जिला खनिज संस्थान न्यास नियमों में किए गए संशोधन के अनुसार अब डीएमएफ की शासी परिषद में जिला कलेक्टर के स्थान पर प्रभारी मंत्री अध्यक्ष तथा क्षेत्रीय विधायक सदस्य होंगे। खनन कार्यों से प्रत्यक्ष प्रभावित क्षेत्रों की ग्राम सभा के कम से कम 10 सदस्यों की नियुक्ति का प्रावधान भी शासी परिषद में किया गया है। अनुसूचित क्षेत्रों में ग्राम सभा के 50 प्रतिशत सदस्य अनुसूचित जनजाति के होंगे। महिला सशक्तिकरण के तहत ग्राम सभा की 50 प्रतिशत सदस्य महिलाएं होंगी। नये नियमों के अनुसार जिला खनिज न्यास निधि में प्राप्त 50 प्रतिशत राशि का उपयोग प्रत्यक्ष प्रभावित क्षेत्रों में किया जाएगा। डीएमएफ की राशि के खर्च का सोशल ऑडिट कराया जाएगा।
डीएमएफ की राशि के उपयोग से खनन प्रभावित क्षेत्रों में प्रभावित लोगों के लिए आजीविका के स्थाई साधन विकसित किए जाएंगे। छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है, जहां वनोपज आधारित आजीविका के साधन विकसित करने को उच्च प्राथमिकता दी गई है। डीएमएफ के कार्यों की मॉनिटरिंग के लिए राज्य स्तरीय डीएमएफ सेल के गठन का प्रावधान भी किया गया है। नये प्रावधानों के अनुसार डीएमएफ राशि की अधिकतम 20 प्रतिशत राशि का उपयोग उच्च प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में अधोसंरचना के विकास में किया जा सकेगा। डीएमएफ में हर वर्ष औसतन 1200 करोड़ रूपए की राशि जमा होती है।
डीएमएफ की राशि का उपयोग कर प्रदेश के विभिन्न जिलों में अनेक महत्वपूर्ण कार्य किए जा रहे हैं। अनेक जिलों में इस मद से आत्मानंद शासकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूल भवन, अस्पताल भवन, चिकित्सा सुविधा के विस्तार, आंगनबाड़ी केन्द्र भवन निर्मित किए गए हैं। बीजापुर जिले में सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बनाया गया है। विशेषज्ञ डॉक्टरों की नियुक्ति की गई है। दंतेवाड़ा जिले में आजीविका के लिए इस मद से महिलाओं को ई-रिक्शा दिए गए हैं, महिला समूहों के मिनी राईस मिल मछली पालन जैसी गतिविधियों के लिए सहायता दी गई है। दंतेवाड़ा जिले के गीदम विकासखंड के हारम गांव में महिलाओं को आजीविका के साधन उपलब्ध कराने के लिए डीएमएफ मद से गारमेंट फैक्ट्री की स्थापना की गई है। ऐसी ही गारमेंट फैक्ट्रियां दंतेवाड़ा, बारसूर और बचेली में भी स्थापित करने की योजना है, जिसमें लगभग एक हजार महिलाओं को रोजगार मिलेगा।
नियमों में संशोधन के बाद अब डीएमएफ राशि से खनन प्रभावित क्षेत्र के शासकीय अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार, डॉक्टरों, नर्सों की सेवाएं प्राप्त करने, यहां रहने वाले परिवारों के बच्चों को नर्सिंग, चिकित्सा शिक्षा, इंजीनियरिंग, विधि, प्रबंधन, उच्च शिक्षा, व्यवसायिक पाठ्यक्रम, तकनीकी शिक्षा, शासकीय संस्थाओं, महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में शैक्षणिक शुल्क और छात्रावास शुल्क के भुगतान के साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग और आवासीय प्रशिक्षण की व्यवस्था भी इस मद से की जा रही है।
राज्य में इस तरह के कई उदाहरण हैं जो यह इंगित करते हैं कि डीएमएफ की राशि का मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली सरकार में पूर्ववर्ती सरकार की तुलना में बेहतर उपयोग सुनिश्चित किया जा रहा है। इसके साथ ही इसका लाभ सीधे प्रभावित क्षेत्रों के लोगों तक पहुंच रहा है।

Related Articles

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

LIVE
अस्पताल में आग लगने से डॉक्टर और उसके 2 बच्चों की मौत नवीन जिला सारंगढ़ में आदर्श शिक्षक सम्मान समारोह हुआ संपन्न,छ.ग. चौहान सेना ने 62 आदर्श शिक्षकों का ... कांग्रेसी खींचतान के बीच जानिए किस राजनीतिक दल के पास है कितने विधायक? विधानसभा में क्या है स्थिति उम्र में 26 और आंकड़ों में 36 का फासला, जानें अशोक गहलोत की वो 3 जिद, जो सचिन पालयट के सीएम बनने में... MLA नहीं चाहते पायलट CM बनें, गहलोत गुट ने तोड़ा अनुशासन, सोनिया को सौपेंगे रिपोर्ट छत्तीसगढ़ में गंगाजल पॉलिटिक्स, पू्र्व सीएम रमन सिंह के बयान पर कांग्रेस ने दी लीगल नोटिस भेजने की च... छत्तीसगढ़ को मिला पोषक अनाज अवार्ड 2022 छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक 6 अक्टूबर से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के समक्ष सैकड़ों नए युवा हुए शामिल, भाजपा की रीति नीति से प्रभावित युवाओं में भा... लचर व्यवस्था के चलते हुई नसबंदी के दौरान महिला की मौत - भाजपा पूर्व मंत्री श्रीमति रमशिला साहू का जन्मदिन आज दुर्ग ग्रामीण विधानसभा के विभिन्न स्थानों पर कार्यकर... जिला खनिज व रिसाली निगम की संयुक्त कार्यवाही : सड़क की जमीन पर भवन निर्माण सामाग्री रखने वालों के खि... पुलिस माओवादियों के बीच मुठभेड़ के बाद पुलिस ने किया माओवादी केम्प ध्वस्त कलेक्टर ने बच्चों के साथ किया मध्याह्न भोजन, कहा ये स्वादिष्ट पर आपके साथ खाना और भी अच्छा लग रहा है वर्ल्ड अल्जाइमर डे पर पुलिस अधीक्षक पहुंचे वृद्धजनों के बीच उखण्ड उर्फ योगेश वानखेड़े के परिवार से मिलकर भाजपा नेताओं ने व्यक्त की संवेदना 22 वी राज्य स्तरीय शालेय क्रीडा प्रतियोगिता में प्रगति विद्यालय तथा व्ही आर. एजुकेशनल एकॆडमी के खिला... सपना चौधरी को कोर्ट ने हिरासत में लिया, धोखाधड़ी के मामले में डांसर ने किया सरेंडर HC की अहम टिप्पणी, शादी का मतलब सिर्फ शारीरिक सुख नहीं- परिवार को बढ़ाना भी जरूरी गुमनाम राजनीतिक चंदे पर EC का शिकंजा, कैश लेने की लिमिट भी तय- कानून मंत्रालय को भेजा प्रस्ताव भाजपा में शामिल हुए पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह संसद भवन उड़ा दूंगा… की धमकी देने वाले पूर्व विधायक गिरफ्तार जनदर्शन में जनहित में आया अनुठा आवेदन सेवा पखवाडा के तहत भाजपाइयों ने वृहद स्वच्छता अभियान चलाकर सफाई मित्रो का किया सम्मान गिरदावरी सबसे महत्वपूर्ण, सही डाटा ऑनलाइन एंट्री में प्रस्तुत होना चाहिए - कलेक्टर गैर आवासीय निवास का भी होगा नियमितिकरण एक ही दिन में सीएचसी धमधा में 8 बच्चों ने सीजेरियन आपरेशन से लिया जन्म दुर्ग जिले के मुक्तिधाम में पचास से ज्यादा आत्माएं मोक्ष का कर रहीं इंतजार, नहीं हो रही रस्म अदा आधी रात को सड़कों पर निकले SP, नशेड़ी-ट्रैफिक नियम तोड़नेवालों की लगाई क्लास, चार बारों को कराया बंद नक्सलियों ने जवानों का राशन ले जा रहे वाहन को लूटकर आग के हवाले किया, ट्रेन ड्राइवर से भी बदसलूकी रायपुर एयरपोर्ट पर लड़कियों ने की ऑटो चालक की जमकर पिटाई, छत्तीसगढ़ के झुमका आइलैंड में लगेंगे ट्यूलिप के फूल, 20 किस्म के फूलों का होगा उत्पादन, प्रशासन ने श... बिलासपुर हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, 58 फीसदी आरक्षण को किया रद्द पार्टी से निकाले गए धरमजीत सिंह ने लगाए अमित जोगी पर आरोप, बोले- मेरी पत्नी से की अभद्रता बस्तर में आदिवासी विद्रोह की चेतावनी, कांग्रेस नेता अरविंद नेताम ने लोहा खनन को लेकर सरकार को घेरा ED-CBI के खिलाफ बंगाल विधानसभा से प्रस्ताव पारित, ममता बनर्जी बोलीं- मैं नहीं मानती कि पीएम मोदी अंतरराष्ट्रीय ग्रैंडमास्टर्स शतरंज टूर्नामेंट आज से, 15 देशों के 500 से अधिक खिलाड़ी दिखाएंगे दम हमारी संस्कृति ही हमारी पहचान : बैज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर मरवाही की ज्योति कैवर्त्य का इलाज राजधानी में शुरू संस्कृति का एक आधार स्तम्भ है लोकमंजरी:ताम्रध्वज स्कूल के दिनों की यादें ताजा हो गईं जब मुख्यमंत्री को मिल गए सहपाठी गंगूराम बस्तर के शेरों की मांद में घुस आए रंगे सियार 99 हजार 999 रूपये की आनलाईन ठगी के 2 आरोपी गिरफ्तार 2.5 करोड़ की लागत से शहर में बनेंगे 10 स्थानों पर हमर क्लिनिक *भूपेश सरकार ने जनता के द्वार तक पहुंचा... मासूम के साथ अश्लील हरकत करने वाले स्कूल बस चालक का मकान जमींदोज मंत्री रविंद्र चौबे ने दिव्यांग बालिका निशा को दी मोटाराईज्ड ट्रायसिकल एवं स्वेच्छानुदान से 2 लाख रू... आजादी का अमृत महोत्सव विषय पर भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के केंद्रीय संचार ब्यूरो रायप... जनता का प्रतिनिधि बनकर जनता की आवाज बनना अपराध नही- अरूण सिंह राज्य स्तरीय शिक्षक सृजन गौरव अलंकरण से सम्मानित हुए गुरूजन भिलाई में पहली बार होगा 7 दिवसीय ओलंम्पिक खेल महोत्सव भेंट-मुलाकात, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ग्राम राजपुर में की कई घोषणाएं महिला एवं बाल विकास की संयुक्त टीम ने भिक्षावृत्ति में लिप्त बच्चों का रेस्क्यू कर भेजा बाल गृह देश का पहला एनकाउंटर जिला पंचायत अध्यक्ष शालिनी रिवेंद्र यादव ने पोषण माह की शुरुआत "सही पोषण - देश रोशन "के नारों के साथ... भगवान शिव महापुराण कथा का अंतिम दिवस,द्वादश ज्योतिर्लिंग की कथा का वाचन होगा शातिर चोर चांदी के सिक्का के साथ गिरफ्तार आरक्षित वर्ग के लिए पंचायत में यदि आरक्षित वर्ग के नही है तो आरक्षण को अपवर्जन का अधिकार अनुविभागीय ... झारखंड के विधायकों को छत्तीसगढ़ में ठहराने पर सीएम बघेल का बड़ा बयान, बोले : राज्य में जल्द पड़ सकता है... हड़ताल के कारण जिला पंजीयक कार्यालय को 12 करोड़ का हुआ नुकसान छत्तीसगढ़ में निवेशकों को खनन व खनिज संसाधनों की जानकारी देने बनेगा सेल पहले स्वदेशी पोत आइएनएस विक्रांत में लगा है भिलाई इस्पात संयंत्र का स्टील चंगोरी में क्रिकेट के रोमांच का मुख्यमंत्री भूपेश के बेटे चैतन्य ने किया शुभारंभ गरियाबंद में पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 6 फर्जी नक्सली गिरफ्तार, सरपंच से मांगी थी 5 लाख की रंगदारी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी में नौकरी देने के बहाने ठगी, आरोपी गिरफ्तार दाऊद का ठिकाना बताओ और 25 लाख रुपए नकद इनाम पाओ कार का शीशा तोड़कर 7लाख की चोरी , वारदात का वीडियो CCTV में कैद, पुलिस जांच में जुटी उतई कॉलेज में सीट वृद्धि एवं पीजीडीसीए की स्वीकृति पर एनएसयूआई और युवा कांग्रेस ने गृहमंत्री का जता... मोदी आर्मी 6 सितंबर को करेगी अनोखा प्रदर्शन, मुख्यमंत्री व नगरीय निकाय मंत्री के पुतले को दिखाएगी सड... लड़कियां देख बर्थडे पार्टी में घुसे नशेड़ी, मारपीट कर युवक को छत से फेंका, हुई मौत छत्तीसगढ़ को आज मिलेगा 29वां जिला, सीएम भूपेश बघेल देंगे सौगात, जानिए क्या होगा भौगोलिक क्षेत्रफल कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर बड़ी खबर, शशि थरूर ने की वोटर लिस्ट जारी करने की मांग 30 फाइटर जेट तैनाती की क्षमता, खतरनाक हथियारों से लैस... समुद्र में तैरता किला है INS Vikrant, आप विधायक बलविंदर कौर को पति सुखराज ने मारा थप्पड़, बीच बचाव में आए लोग, सोशल मीडिया पर वायरल भूपेश बघेल कलेक्शन मास्टर है और भ्रष्टतम भूपेश सरकार को उखाड़ फेंकें - तेजस्वी सूर्या मुख्यमंत्री भूपेश के जन्मदिन पर श्रमिको व किसानो को गमछा देकर किया सम्मानित, केक काटकर कराए गए मुह म... कॉमनवेल्थ में पदक विजेता आयुषी का विधायक ने किया केक कटवाकर सम्मान, केबीसी में 50 लाख जीतने वाले प्र... सीएम भूपेश बघेल को लेकर बीजेपी नेता डी पुरंदेश्वरी का विवादित बयान,पर दुर्ग एनएसयूआई ने विरोध कर माफ... महिला शिक्षिकाओं के साथ स्कूल में घुसकर अभद्रता पूर्ण व्यवहार करने वाले लिपिक और उसके सहयोगियों के ख... पल्स ग्रीन में जमा रकम वापसी के लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन पोटियाकला वार्ड से ट्रैचिंग ग्राऊंड हटाने को लेकर निगम अधिकारी व वार्डवासियों के बीच बनी सहमति बेरोजगारी-अपराध के खिलाफ भाजपा ने बोला हल्ला : बैरिकेड्स तोड़ सीएम हाउस के पास पहुंचे हजारों भाजपाई ... मुख्यमंत्री को जन्मदिन की बधाई देने मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक, मुख्य प्रधान वन संरक्षक उनके निवास ... मुख्यमंत्री अपने जन्मदिन के अवसर पर परिवार संग केक काटा राष्ट्रपति- उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, केन्द्रीय गृहमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष और राज्यपाल सहित अनेक जन... पुरखों का देखा छत्तीसगढ़ के विकास का सपना पूरा हुआ : भूपेश बघेल सीएम ने लाइव होकर स्वीकारी शुभकामनाएं,युवाओं व खिलाड़ियों में दिखा उत्साह कुरूद के स्वामी आत्मानंद स्कूल में अव्यवस्था देख भड़के कलेक्टर, प्राचार्य को कारण बताओ नोटिस जारी कर... हमर तिरंगा अभियान के अंतर्गत बच्चों को दिखाई जाएगी फ़िल्म गांधी, महात्मा गांधी के जीवनवृत्त से बच्चे ... महिला सशक्तिकरण और जागरूकता के लिए सद्भावना मार्च का आयोजन दुर्ग जिला न्यायालय के पुराने भवन की बिजली कटी,अधिवक्ता आक्रोशित उड़ते हुए सो गए पायलट, हवाईअड्डे में उतरने के बजाय हवा में ही घूमता रहा विमान,37 हज़ार फीट की ऊंचाई ... शादी के लिए लगाया बैंक को एक करोड़ रुपए का चुना छत्तीसगढ़ के in युवको ने आइएएस गीता के निधन पर शोक में डूबे अधिकारी कानपुर में धारा 144, बढ़ते कोरोना मरीजों को देखते हुए प्रशासन का सख्त फैसला, भारती आयुर्वेद कालेज पर तीन लाख जुर्माना, मान्यता भी होगी रद स्वच्छता में किया बेहतर काम, पतोरा की बनी नई पहचान मुख्य मार्गों के गड्ढों को भरने चलाएं महाअभियान : विधायक अरुण वोरा सुपेला फाटक को ट्रैफिक पुलिस ने किया बंद, परेशान हो रहे लोग अवैध कब्जाधारियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, बीएसपी ने एमएलटी व चंद्रा हैवी लिफ्टर्स को किया सील बिना कारण मांगे रुपये, नहीं दिया तो एयरगन दिखाकर किया जानलेवा हमला